Categories
Love Shayari

दोस्त ही है जो जवान रखते है साहब* *वर्ना

*दोस्त ही है जो जवान रखते है साहब*
*वर्ना*
*बच्चे वसीयत पूछते है,*
*और रिश्ते हैसियत पूछते है !*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *