आज के समय में जिस चीज़ का बहुतायत में इस्तेमाल किया जाता हैं वह है प्रिंटर। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि सब चीज़े ऑनलाइन होने लगी हैं और ऑनलाइन जिस भी चीज़ को हम देखते हैं उसे हम सॉफ्ट कॉपी कहते हैं।

अब हर जगह (Printer kya kaam karta hai) सॉफ्ट कॉपी या ऑनलाइन चीज़ तो चल नही सकती हैं, बहुत बार ऐसा होता हैं कि हमें उसके लिए हार्ड कॉपी अर्थात कागज पर वह चीज़ देनी पड़े। तो इसके लिए प्रिंटर का इस्तेमाल किया जाता हैं।

सबसे पहले बात की जाए कि आखिरकार यह प्रिंटर होता क्या है या उसका काम क्या होता हैं। जब तक आपको यह नही पता होगा कि एक प्रिंटर होता क्या है या फिर उसका क्या क्या काम है तब तक आप इसके प्रकारों को भी नही समझ पाएंगे।

अब आपको यह भी जानना होगा कि आखिरकार कोई प्रिंटर कैसे काम करता हैं या फिर वह कैसे किसी की फोटोकॉपी या पन्ने को प्रिंट कर सकता हैं।

अब हम किसी चीज़ की कॉपी बनाना चाहाहे तो हमें सब कुछ हाथ से लिखना पड़े और वो भी बहुत ही सावधानी के साथ और वैसे ही राइटिंग में ताकि वह एकदम वैसा का वैसा लगे और उन दोनों में कोई अंतर ना हो।

यह काम प्रिंटर बहुत ही आसानी से और बहुत ही तेजी के साथ कर सकता हैं और वो भी चुटकियो में। प्रिंटर एक ऐसी मशीन होती हैं जो कंप्यूटर के द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करती हैं। उसके अंदर पहले से इंक के रूप में पाउडर या गीली स्याही होती हैं।

अब बात करते हैं इंकजेट की और इसके द्वारा होने वाले इस्तेमाल की। तो जिस तरह से लेजर में कार्टेज के रूप में पाउडर वाली स्याही का इस्तेमाल किया जाता है तो उसी तरह इंकजेट प्रिंटर में सयासी के रूप में कार्टेज में गीली इंक डाली जाती हैं तभी इसका नाम इंकजेट प्रिंटर पड़ा।

प्रिंटर क्या है? लेजर व इंकजेट प्रिंटर में अंतरअधिक जानकारी के लिए नीचे लिंक पर क्लीक करे?