बिहार सरकार राज्य में युवाओं और महिलाओं को उद्यम के क्षेत्र में आने के लिए बढ़ावा दे रही है। खास तौर पर अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़ा वर्ग के नजरिए से इन योजनाओं को तैयार कर रही है।

स्व रोजगार को बढ़ावा देने के मकसद से वह जिन योजनाओं को लेकर हाजिर हुई है, उन्हीं में से एक योजना है मुख्यमंत्री युवा एवं महिला उद्यमी योजना (Mukhyamantri Yuva Evan mahila Udyami Yojana)। इस योजना की बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हाल ही में शुरुआत की है।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 20 जून, 2021 को मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना एवं मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना का शुभारंभ किया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस योजना के बनाये गए पोर्टल www.udhyog.bihar.gov.in को भी लांच किया है।

साथियों, योजना के तहत उद्यमिता यानी नए उद्योग लगाने के लिए राज्य सरकार की ओर से अधिकतम 10 लाख रुपये की सहायता ऋण के रूप में की जाएगी।

योजना के तहत लोन पर पर पांच लाख रुपये की सब्सिडी दी जाएगी। पांच लाख के ऋण पर महिलाओं को कोई ब्याज देय नहीं होगा, जबकि युवा उद्यमियों के लिए एक प्रतिशत का मामूली ब्याज तय किया गया है। यह राशि उन्हें मय ब्याज 84 किश्तों में चुकानी होगी।

आपको बता दें कि 2023 में महिला उद्यमी योजना के लिए 200 करोड़ की मंजूरी की गई है। ठीक इसी तरह मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के लिए भी इस वित्तीय वर्ष 200 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। यानी दोनों योजनाओं के लिए कुल 400 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।

जो भी इच्छुक इन योजनाओं का लाभ उठाना चाहते हैं, उन्हें इसके लिए आनलाइन आवेदन करना होगा। सबसे पहले उन्हेंhttps://udyami.bihar.gov.in/ पर अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसके बाद आवेदन की प्रक्रिया आनलाइन पूरी करनी होगी।

मुख्यमंत्री युवा एवं महिला उद्यमी योजना के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें?