वो नकाब लगा कर खुद को इश्क से महफूज समझते रहे ;.

???????? वो नकाब लगा कर खुद को इश्क से महफूज समझते रहे ;. ????????????????
नादां इतना भी नहीं समझते कि इश्क चेहरे से नहीं आँखों से शुरू होता है !!????????
????????????????????

1 thought on “वो नकाब लगा कर खुद को इश्क से महफूज समझते रहे ;.”

Leave a Comment